सैकड़ो सांसदों के साथ तेज प्रताप उतरे सड़क पर, राज्यपाल के खिलाफ धरना

जदयू-भाजपा गठजोड़ के पास भले ही बिहार विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने के लिए संख्या बल हो लेकिन राजद भी यह लड़ाई लड़े बगैर छोड़ देने के मूड में नहीं दिख रही क्योंकि तेजस्वी यादव ने आज रात कहा कि वह अगली सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

Tejashwi Yadav marches towards Raj Bhavan

तेजस्वी ने ट्वीट किया, ‘‘राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है। सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते अगली सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। जदयू के उन विधायकों का भी समर्थन मिलेगा जो भाजपा उम्मीदवारों को हरा कर जीते हैं।’’ हालांकि, संख्याबल उनके खिलाफ है। जदयू और राजग के सहयोगियों को मिला कर 243 सदस्यीय विधानसभा में 129 विधायक हैं जो कि जादुई आंकड़े 122 से सात अधिक है।

राजद के 80 विधायक हैं और यदि कांग्रेस के 27 और भाकपा माले के तीन विधायक तेजस्वी का समर्थन करने का निर्णय करते हैं तो भी उनकी संख्या 110 होगी। चार निर्दलीय विधायक हैं, जो उस गठबंधन को समर्थन दे सकते हैं जिसके पास बहुमत होगा।

नीतीश ने तोड़ा महागठबंधन, भाजपा के साथ बनाएंगे सरकार

नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के साथ ही बुधवार को बिहार की राजनीति में जैसे भूचाल आ गया। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस के साथ 20 महीने पुराने महागठबंधन से खुद को अलग करते हुए नीतीश ने राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। नीतीश के इस्तीफे की घोषणा के कुछ ही देर बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उन्हें बिना शर्त समर्थन देने की घोषणा भी कर दी है और गुरुवार को नीतीश नई सरकार गठित करने का दावा पेश कर सकते हैं।

nitish kumar quits as bihar cm

इस्तीफे की घोषणा के कुछ ही देर बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर नीतीश को बधाई दी।

मोदी ने ट्वीट किया, “भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई। सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं। देश के, विशेष रूप से बिहार के उज्ज्वल भविष्य के लिए राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठकर भ्रष्टाचार के खिलाफ एक होकर लड़ना, आज देश और समय की मांग है।”

नीतीश ने भी जवाबी ट्वीट कर मोदी का धन्यवाद व्यक्त किया।

इस बीच नीतीश के साथ गठबंधन सरकार में उप-मुख्यमंत्री रह चुके भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि नीतीश के नेतृत्व में बनने वाली सरकार में भाजपा शामिल होगी।

sushil kumar bihar deputy chief minister

सुशील मोदी ने यहां कहा, “बिहार में नीतीश के नेतृत्व में अगर कोई भी सरकार बनती है, तो भाजपा उसका समर्थन करेगी। भाजपा विधानमंडल दल नीतीश कुमार को बतौर नेता विश्वास प्रकट करती है।”

सुशील ने बताया कि इसकी सूचना टेलीफोन के जरिए नीतीश कुमार को भी दे दी है, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा भी सरकार में शामिल होगी।

उन्होंने बताया कि जल्द ही इस फैसले से राज्यपाल को भी अवगत करा दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश ने कहा कि जितना संभव हो सका, उन्होंने गठबंधन धर्म का पालन करने की कोशिश की, लेकिन बीते घटनाक्रम में जो चीजें सामने आईं उसमें काम करना मुश्किल हो गया था।

नीतीश ने कहा, “मैंने इन 20 महीनों में जितना हो सका, सरकार चलाने की कोशिश की। लेकिन इस बीच जो हालात बने, जिस तरह की चीजें उभरकर सामने आईं, उसमें काम करना, नेतृत्व करना संभव नहीं रह गया था।”

भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे राजद नेता तेजस्वी यादव प्रकरण पर नीतीश ने कहा, “हमने कभी किसी का इस्तीफा नहीं मांगा था, बल्कि उनका पक्ष मांगा था। मैंने कहा कि जो भी आरेाप लगे हैं, उसे ‘एक्सप्लेन’ कीजिए। वो नहीं हुआ। जब मुझे ऐसा लग गया कि वे कुछ कहने की स्थिति में नहीं हैं, तो ऐसी स्थिति में मैं तो जवाब नहीं दे सकता। मैं सरकार का नेतृत्व कर रहा हूं। लेकिन सरकार के अंदर के व्यक्ति के बारे में कुछ बातें कही जाती हैं और मैं उस पर कहने की स्थिति में नहीं हूं तो ऐसी स्थिति में इस सरकार को चलाने का, मेरे हिसाब से कोई आधार नहीं है।”

नीतीश ने कहा कि उन्होंने अंतर्रात्मा की आवाज पर अपना इस्तीफा दिया है।

नीतीश ने कहा, “पूरे माहौल को देखने के बाद, मुझे लगा कि मेरे जैसे व्यक्ति के लिए..यह मेरे अंतर्रात्मा की आवाज है।”

नीतीश ने नोटबंदी और राष्ट्रपति चुनाव के दौरान अपनी पार्टी के पक्ष पर सवाल उठाए जाने का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, “हमने नोटबंदी का समर्थन किया, तब हम पर सवाल उठाए गए। हमारे बिहार के राज्यपाल राष्ट्रपति बनने वाले थे, हमने उनका समर्थन किया, तब भी हम पर सवाल उठाए गए। इस तरह काम करना मेरे स्वभाव के विपरीत है।”

उल्लेखनीय है कि 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में जद (यू) और भाजपा को मिलाकर 129 विधायक हो जाएंगे, जो जरूरी बहुमत 124 से अधिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *