Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने गुरुवार को कहा कि केंद्रीय जांच एंजेसियों द्वारा उनके परिवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के संबंध में मामला दर्ज कराने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ मिलकर ‘साजिश रची।’ चारा घोटाला मामले में यहां केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की अदालत में पेश होने के बाद लालू प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, “नीतीश कुमार ने बिहार के लोगों को धोखा दिया है। मैं आरोप लगाता हूं कि नीतीश कुमार ने मेरे और मेरे परिवार के खिलाफ सीबीआई में मामला दर्ज कराने के लिए भाजपा के साथ गठजोड़ किया।”

Lalu Yadav and Nitish Kumar
उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने वाले सुशील मोदी को उनके परिवार के सदस्यों की छवि खराब करने के लिए अभियान चलाने के लिए कहा गया।

सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर विभाग ने लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी सहित उनके छोटे बेटे बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव व बेटी मीसा भारती के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया है।

लालू ने नीतीश कुमार को ‘भस्मासुर’ बताते हुए कहा, “मेरी पार्टी के राज्य में अकेले सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने के बावजूद मैंने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया। मैं स्वार्थी नहीं था।”

नीतीश कुमार और सुशील मोदी के शपथ लेने के तुरंत बाद लालू यादव ने यह टिप्पणी की।

उन्होंने दावा किया कि जब वह (लालू) आरोपों का सामना कर रहे थे, तो उनके जानने वाले लोगों ने उनसे सहानुभूति जताई, लेकिन नीतीश कुमार ने कभी ऐसा कुछ नहीं किया। लालू ने कहा कि सब कुछ पहले से तय था।

उन्होंने कहा, “वह (नीतीश) बहुत बड़े अवसरवादी हैं। हमें भाजपा और आरएसएस के खिलाफ जनादेश मिला था और साथ मिलकर हमने उन्हें (2015 विधान सभा चुनाव में) बिहार से खाली हाथ लौटा दिया था।”

लालू ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह उनसे जलते हैं। उन्होंने कहा कि वे जानते हैं कि उनकी नींव को नहीं हिलाया जा सकता। लालू ने कहा कि उन्होंने नीतीश के लिए कभी कोई समस्या पैदा नहीं की।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

उत्तर छोड़ें

Please enter your comment!
Please enter your name here